Nāḍī parīkṣā

Front Cover
Kr̥ṣṇadāsa Akādamī, 1991 - Medical - 85 pages
0 Reviews
Verse work, on the examination of the pulse according to the ayurvedic system in Indic medicine.

From inside the book

What people are saying - Write a review

We haven't found any reviews in the usual places.

Contents

Section 1
Section 2
Section 3
Copyright

Common terms and phrases

अत अधिक अन्य अनामिका अर्थात् अंगुलियों अंगुली आचार्य आदि आयुर्वेद इन इस एक एवं और कफ कभी कम कर करने का किन्तु किया किसी की गति कुछ के कारण के नीचे के समान के साथ को गति से चलती चलने वाली चाहिए ज्ञान ज्वर जा जाता है जैसे जो तर्जनी तीव्र द्वारा दिन दोनों दोष दोषों धमनी नई नहीं नाजी नाडी-परीक्षा नाती नाबी नाभी नाहीं ने पर परीक्षा प्रकार प्रकोप में प्रतीत प्रभाव प्राकृत प्राप्त पित्त भी मध्यमा मंद मिलता मिलती है मृत्यु में नाडी में नाडीगति में भी यदि यह या ये रक्त रहती है रावण रूप से रोग रोगी को रोगों लक्षण लक्षणों वर्णित व्यक्ति की वात विकृति वृद्धि शरीर शिव सकता है स्थान स्थिति स्पन्दन स्पर्श में स्पष्ट सूचक से चलती है हाथ ही हुई है कि है तथा है तो है है हैं हो तो होता होती है होते हैं

Bibliographic information