Vyādhi nigrah of Visramyati

Front Cover
Caukhambhā Saṃskr̥ta Bhavana, 1999 - Medicine, Ayurvedic - 166 pages
0 Reviews
Two works with Hindi commentary on ayurvedic system in Indic medicine.

From inside the book

What people are saying - Write a review

We haven't found any reviews in the usual places.

Contents

मपनी सैन्धवादिचुगीर
२९

10 other sections not shown

Common terms and phrases

अथवा आंवला इन सबों का उबर एक और कर लेप करती करते हैं करना करे का क्याथ का रस कास की छाल की जड़ कुटकी के रस के लिये के साथ पान को दूर करता को नष्ट करता को नाश करता गुटिका गुड़ ग्राम चन्दन चावल चाहिए चिकित्सा जल जीरा ज्वर तथा तिल तीन तु तैल दिन दूध दूर करता है दे देवदास दोनों धनिया नमक नष्ट करता है नाश करता है नीम पर पल पान करने से पीडा पीपर पीस कर पुनर्नवा प्राची फूल बहेडा बीज भी मधु मधुना मरिच मिला मिलाकर मुख मूल मैं यह या ये सब रोग को नाश रोग में रोगों लहसुन लेप वच वण वा वात विफलता वृत शक्कर शरीर शहद शान्त सफेद सबों का चूर्ण सभी प्रकार के सम समभाग इन सबों सिर सेवन स्वाथ हल्दी है और है ही है है हैं हो होता है होती

Bibliographic information