Kucha aithāsika rūkke-paravāne

Front Cover
Rājasthānī Śodha-Saṃsthāna, 1968 - Rajasthan (India) - 23 pages
0 Reviews
On letters and notes exchanged between rulers of Rajasthan and other dignitaries, 17th-18th cent; lectures.

From inside the book

What people are saying - Write a review

We haven't found any reviews in the usual places.

Common terms and phrases

१७८३ अजमेर अजीतसिंह अनेक अपनी अपने अभयसिंह ने अरिसिंह अहमदाबाद आक्रमण आदि इतिहास इस इसके इसमें इसी ईडर उदयपुर उन्हे उमेदसिंह उस समय उसकी उसके उसने उसे एक और औरंगजेब कई कई है कर करने करे का पत्र का है काबुल किया किया है की कुछ के नाम के लिए को कोटा गई गया गुजरात जब जयपुर जयसिंह के जो जोधपुर जोधपुर के तक तरह तिथि तीन तो थई है था है थी है थे दिन दिया दी देने दो दोनों नागोर ने पर परवाने पुत्र प्रयत्न प्रार्थना फिर बहुत बात बाद बादशाह भी भीमसिंह मराठी महाराणा मेवाड़ युद्ध ये रविवार रहा राजस्थान राजा राज्य रायसिंह राव रूप लिखा लिया विजयसिंह शाहपुरा सं० संवत संवार सनक सब सम्वत सवाई जयसिंह साथ सिंह सुदि सूरसिंह से सेना हजार ही हुआ हुई है इस है इसलिए है कि है किन्तु है यह है है हैं हो होगा होने

Bibliographic information