Ādhunika Hindī kahāniyoṃ meṃ yuvā mānasikatā

Front Cover
Samatā Prakāśana, 1996 - Hindi fiction - 216 pages
0 Reviews
Psychology of the youth as depicted in the Hindi short stories of 20th century; a study.

From inside the book

What people are saying - Write a review

We haven't found any reviews in the usual places.

Common terms and phrases

अत अधिक अनुभव अपनी अपने आदि इन इस उत्पन्न उनके उस उसका उसकी उसके उसको उसमें उसे एक ओर कता कर करके करता है करती करते करना करने करने के कहा कहानियाँ कहानियों कहानी का किया किसी की कुछ के अनुसार के कारण के प्रति के बाद के लिए के साथ को कोई गई गया है घर जाता है है जाते जीवन में जो तक तथा तनाव तो था थी दो दोनों नहीं नहीं है निर्माण ने पति पत्नी पर परन्तु परिवेश पारिवारिक पिता पे० प्रयत्न प्राप्त प्रेरणा बन भावना भी मन मानसिक में यह या रहा है रूप में लगता है वर्तन वह विकास विवाह विविध वे व्यक्ति व्यक्ति के व्यवहार शिक्षा संघर्ष सकता है समय समाज समायोजन सामाजिक से स्थिति हिन्दी ही हुआ हुए है और है कि है तो हो जाता है हो जाती होकर होता है और होता है है होती होते हैं होने

Bibliographic information