Anuvāda, anubhūti, aura anubhava: anuvādavidoṃ se sākshātkāra

Front Cover
Sa˝jaya Prakāśana, 2006 - Language Arts & Disciplines - 341 pages
0 Reviews
Collection of interviews of eminent Indian translators; includes brief biographical description of the translators.

From inside the book

What people are saying - Write a review

We haven't found any reviews in the usual places.

Common terms and phrases

अच्छा अधिक अन्य अनुमित अनुवाद करने अनुवाद के अनुवाद में अपनी अपने अब अम अमर असमिया अं अंग्रेजी इस उन्होंने उर्दू उस उसका उसके उसमें उसे एक एवं ऐसा कर करना कविता क्या क्रिया का अनुवाद काम कार्य किया किसी की कुल कृति के लिए को कोई गया चाहिए जब जा सकता जाए जाता है जाती जाप जी जो तक तथा तब तमिल तरह तो था थी थे दिया दोनों नहीं है नाटक ने पर प्यास प्रकार प्रेमचन्द पुस्तक फिर बहुत बात बाद भारत भारतीय भाषा भाषा की भाषा में भाषाओं भी भूल मराठी मुझे मेरी मेरे में अनुवाद में भी मैं मैंने मौलिक लेखन यदि यम यया यर यह या रचना रहे रूप में लेकिन लेखक वह वाद वे सकता है सब सबसे साथ साहित्य से हम हिन्दी हिन्दी में ही हुआ हुए हूँ है और है कि है तो हैं हो होगा होता है होती होना

Bibliographic information