Bhāratendu kī Khaṛībolī kā bhāshāviśleshaṇa

Front Cover
Nāgarīpracāriṇī Sabhā, 1971 - Hindi language - 587 pages
Linguistic analysis of the Khari Boli of Bhartendu.

From inside the book

What people are saying - Write a review

We haven't found any reviews in the usual places.

Contents

Section 1
Section 2
Section 3

30 other sections not shown

Common terms and phrases

१० ११ १२ १३ १५ १६ अ० अन्य अर्थ आदि इन उ० उदा० उदाहरणार्थ उर्दू एक एकवचन एवं और क० व० सु० कर करने कहीं का प्रयोग कि किए किया गया है कु० कुछ के लिए के साथ को क्रिया ख० खं० १ नं० खड़ी खड़ीबोली खड़ीबोली में गई गए हैं च० चित्र जा जो तत्सम तथा तद्भव तो था थे दि० द० दे० परि० दोनों द्वारा न० नहीं ने पं० पर परंतु पुरुष पुल्लिग पृ० प्रकार के प्रत्यय प्रयुक्त प्राप्त फारसी बहुवचन बोली ब्रजभाषा भा० भा० ह० प० भारतेंदु की भाषा भी में यथा यह या या० ये रूप रूप में रूपों के वर्तमान वाक्य वाले वि० विदेशी विभिन्न विशेषण शब्द शब्दों सं० सं० १ संज्ञा संस्कृत समान सर्वनाम सामान्य से स्तो० स्त्रीलिंग स्वर ह० चं० ह० मै० हिंदी ही हो होता है होते हैं होने

Bibliographic information