Grāmīṇa parivāroṃ meṃ svāsthya-paricarya kā samājavaij˝ānika adhyayana

Front Cover
Klāsikala Pabliśiṅga Kampanī, 1994 - Rural health services - 243 pages
Health services for rural families; a socio-scientific study conducted in Hathiyāra village of Cholapur Block of Vārāṇasī District.

From inside the book

What people are saying - Write a review

We haven't found any reviews in the usual places.

Contents

Section 1
1
Section 2
18
Section 3
32

8 other sections not shown

Common terms and phrases

अध्ययन अधिक अधिकांश अन्य अनेक अपने आदि आधुनिक आयु आर्थिक आवश्यक इन इस इस प्रकार इसके उत्तरदाताओं उत्पन्न उनके उपयोग उसके उसे एक एवं ऐसे कम कर करता है करती करते हैं करना करने क्षेत्र का कार्य किया किया जाता किसी की की सफाई कुछ के अनुसार के कारण के लिए केवल को गया है ग्रामीण घर चाहिए चिकित्सा चिकित्सा पद्धति जा जाता है जाति जाती जाते हैं जीवन तक तथा तो द्वारा दिया दूध नहीं ने पड़ता है पर परिवार के परिवारों में प्रतिशत प्रभाव प्राप्त पारिवारिक बच्चे बच्चों बहुत भारत भी भोजन मकान महत्वपूर्ण मानसिक यदि यह या रहा है रूप से रोग रोगों लोग वर्ष वह व्यक्ति व्यवस्था व्यवहार वाराणसी वाले विकास विवाह विशेष वे शरीर शारीरिक शिक्षा सदस्यों समय सम्बन्ध संयुक्त परिवार स्तर स्थान स्थिति स्पष्ट स्वास्थ्य साथ सामाजिक हिन्दू ही हुए है और है है हो जाता होता है कि होती होते हैं होने

Bibliographic information