Itihāsika Bhāratia sikke

Front Cover
Īsṭarna Buka Liṅkarsa, Jan 1, 1997 - Antiques & Collectibles - 323 pages
Study of ancient Indian coins.

From inside the book

What people are saying - Write a review

We haven't found any reviews in the usual places.

Common terms and phrases

अंकन अंकित अग्रभाग यर अथवा अनेक आँफ आकार आकृति आदि इं० इन इस ईसवी उन उनका उनके उपर उल्लेख उस उसके उसे एक एनी एलन और कहा का का नाम किन्तु किया किये की कुछ कुषाण के अग्रभाग के पृष्ठभाग के मध्य के सिकी के सिक्के के सिवके को क्षेत्र गये गुप्त गोल चल चलाये थे चा चिह्न ज० जा जिह जो तक तीन तो तौल था थे दल दिखाया देवता देवी दो दोनों द्वितीय नहीं नीचे ने पंजाब पर पृष्ठभाग यर प्रकार के प्रकाशित प्रचलित प्रथम प्राप्त बना बल बाद भाग भारत भी मिलता मिले है मृ० यम यमन यर राजा यल यह ये राजस्थान राजा के राजाओं रूप लिखा लिखा है लिपि में वल वह वाराणसी वाले शती शासक शासकों के शिव श्री श्रेय सातवाहन सिर सिवका सिवकों सिवम सिववरों से हाथ में हुआ हुए हुए है है कि है तथा हैं हो होन

Bibliographic information