Prācīna Bhāratīya sikkoṃ aura moharoṃ para Brāhmaṇa devī-devatā aura unake pratīka: prārambha se Gupta kāla taka

Front Cover
Rāmānanda Vidyā Bhavana, 1988 - Coins, Indic - 168 pages
0 Reviews
Brahmanical gods and goddesses represented on ancient Indian coins and seals; study covers up to Gupta period.

From inside the book

What people are saying - Write a review

We haven't found any reviews in the usual places.

Contents

भूमिका
1
तीन की
7
उपसंहार
18

2 other sections not shown

Other editions - View all

Common terms and phrases

१० अत अथवा अन्य अनुमान किया अपने अभिलेख अयोध्या अंकन हुआ है आकृति आफ इन इन्द्र इस इस प्रकार इसी ई० उनका उनके ऊपर ऋग्वेद एक एलन ओर कमल कर कल्पना कहा गया है कहा जा सकता का अंकन का अंकन है का प्रतीक कार्तिकेय काल किन्तु किया है किसी की कुछ कुषाण के रूप में के साथ को कोई गुप्त चक्र चित्र चिन्ह जा सकता है जाता है जो तथा तो था दाहिना दी देखने में देवता देवी दो दोनों नहीं नहीं है नाम ने पर अंकित पर भी प्राचीन भारतीय पुराण पृ पृ० फलक बात भारत महाभारत मोहर पर यह रूप से रेखाचित्र लिये लेख वह वही वहीं विष्णु वृक्ष वे शिव सं० स्पष्ट स्वरूप सातवाहन सूर्य से प्राप्त हाथ में हिन्दू ही हुआ है है ५ है और है कि है है हैं हो होता है होती होने

Bibliographic information