Rasālocanam

Front Cover
B.N. Sharma, 1985 - Emotions - 135 pages
Treatise on the theory of sentiment (Rasa) in Sanskrit poetics.

From inside the book

What people are saying - Write a review

We haven't found any reviews in the usual places.

Contents

रसस्य सुखात्मत्वादिविवेचप 4
4
प्रकृतिक सत्यम्
6
साहित्य विवेचक 1 5
1

1 other sections not shown

Common terms and phrases

०० ०ई १० 1रि० 1ष्ट अत अता अत्रि अपितु अय अस्या आता आप आय आर्ट इति ईई एते एव एवं सति एष कश्चन कावी काव्यस्य कि किया कृते केवलं को क्या ग्रह चास्य चेतनाया जा जि जो ठा डा० तता तत्र तप्त तरस तल तस तस्य तस्या ता तीस तो था दु० द्वा न तु न हि नि पट पप पय परि पु पु० पुर प्र प्रति प्रतीति प्रतीतिरिति प्रवृत्ति प्रष्ट प्रा प्राधान्येन प्राय प्रि भावस्य भावा भी मता यता यत्र यथा यदि यदु यम यय यया यर यल यहाँ या यो योग रस रसस्य रसे रा राई रि रि० रिट रिष्ट लि लोकस्य वा विशेष विषया शेयर सत्यं सत्यस्य समजि समाजे सम्प्रति सम्बन्ध सह सा साधारणीकरण सिर से सो स्थायी स्थिति स्थितिरिति स्वीकार्य है अत्र है अनेन है ननु है परं है है है० हैं हैती हैरिस

Bibliographic information