Yuddhasthal

Front Cover
Rajkamal Prakashan
NA
 

What people are saying - Write a review

We haven't found any reviews in the usual places.

Contents

Section 1
1
Section 2
7
Section 3
17
Section 4
29
Section 5
35
Section 6
50
Section 7
53
Section 8
55
Section 12
97
Section 13
100
Section 14
105
Section 15
126
Section 16
128
Section 17
131
Section 18
146
Section 19
147

Section 9
71
Section 10
73
Section 11
79
Section 20
157
Section 21
164
Section 22
189

Common terms and phrases

अगर अपना अपनी अपने अब आज आती इस इसके उनका उनकी उनके उन्हें उन्होंने उस उसकी उसके उसे ऊपर एक ओझा ओर और औरतों कई कभी कर करती करते करने का काफी काम किया किसी की तरह कुछ के बाद के बीच के लिए के लोग के लोगों के साथ कोई क्या गए गांव के गांव में घर चमरटोली जगतनारायणसिंह जब जा जाता जाती है जाते जाने जो डायन तक तथा तब तो था थी थीं थे दरवाजे दिन दिया दुखन की मां दूधनाथ चौधरी देती नहीं ने पर पहले फिर बहुत बात बार बाहर बैठक भी मन मुझे मैं यह यहां या रहती रहा रही है रहे रात रामशरण बहू को लगता है लगती हैं लगा लगी लगे लड़के लेकर लेकिन लोग लोगों को वह वहां वे सब समय सामने सिर्फ से ही हुआ हुए है कि हैं हैं और हो होता होती है होते होने

About the author

जन्म: 8 जनवरी, 1925; जंडीवाली गली, अमृतसर। शिक्षा: संस्कृत में शास्त्री, अंग्रेजी में बी.ए., संस्कृत और हिन्दी में एम.ए.। आजीविकाः लाहौर, मुंबई, शिमला, जालंधर और दिल्ली में अध्यापन, संपादन और स्वतंत्र-लेखन। महत्त्वपूर्ण कथाकार होने के साथ-साथ एक अप्रतिम और लोकप्रिय नाट्य-लेखक। नितांत असंभव और बेहद ईमानदार आदमी। प्रकाशित पुस्तकें: अँधेरे बंद कमरे, अंतराल, न आने वाला कल (उपन्यास); आषाढ़ का एक दिन, लहरों के राजहंस, आधे-अधूरे, पैर तले की ज़मीन (नाटक); शाकुंतल, मृच्छकटिक (अनूदित नाटक); अंडे के छिलके, अन्य एकांकी तथा बीज नाटक, रात बीतने तक तथा अन्य ध्वनि नाटक (एकांकी); क्वार्टर, पहचान, वारिस, एक घटना (कहानी-संग्रह); बक़लम खुद, परिवेश (निबन्ध); आखिरी चट्टान तक (यात्रावृत्त); एकत्र (अप्रकाशित-असंकलित रचनाएँ); बिना हाड़-मांस के आदमी (बालोपयोगी कहानी-संग्रह) तथा मोहन राकेश रचनावली (13 खंड)। सम्मान: सर्वश्रेष्ठ नाटक और सर्वश्रेष्ठ नाटककार के संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार, नेहरू फ़ेलोशिप, फि़ल्म वित्त निगम का निदेशकत्व, फि़ल्म सेंसर बोर्ड के सदस्य। निधन: 3 दिसम्बर, 1972, नई दिल्ली।

Bibliographic information