R̥tugīta: svara aura svarūpa

Front Cover
Ayana Prakāśana, 1992 - Folk songs, Hindi - 356 pages
Study of Hindi songs pertaining to various seasons according to Hindu calendar; includes a sampling of the songs without music.

From inside the book

What people are saying - Write a review

We haven't found any reviews in the usual places.

Contents

विषयप्रवेश 1
17
ग्रीष्म ऋतु के गीत 4 6
46
वर्षा ऋतु के गीत 5 5
65
Copyright

4 other sections not shown

Common terms and phrases

अपनी अपने आई आदि इन गीतों में इस इस प्रकार उसे ऋतु एवं और कजरी कर करती है करते करने कहते हैं कहा कहीं का का वर्णन कार्तिक कालिदास किन्तु किया जाता है किसी की कुछ कृष्ण के गीत के गीतों के लिए के साथ को कोई गई गया है गीत गीत में गुजरात गोबर घर चैत चैत्र चैती जब जा जाता है जाती जाते हैं जाने जी जेठ जो तक तथा तरह तो था द्वारा दिया देवी दो नहीं ना नाम ने पति पर पर्व पिया पु पूजा फागुन फूल बारहमासा बिहार भाई भी भोजपुरी मन मास मैं मोर यह यहां या ये रंग राजस्थान रात राम रे ले लोकगीतों लोग वसन्त वह वाले विशेष वे सब समय संगीत स्वर सा सावन सीता से हम हरि हरी ही हुआ हुई हुए है और है कि है है हो रामा होता है होती होते हैं होने होली

Bibliographic information