Avadhī aura Bhojapurī lokagītoṃ meṃ Rāmakathā

Front Cover
Bhāratī Bhaṇḍāra, 1984 - Folk-songs, Awadhi - 240 pages
Life and exploits of Rāma, Hindu deity, as portrayed in Awadhi and Bhojpuri folk songs.

From inside the book

What people are saying - Write a review

We haven't found any reviews in the usual places.

Contents

Section 1
Section 2
Section 3
Copyright

7 other sections not shown

Common terms and phrases

अ० लो० अपनी अपने अयोध्या अरि हो अवध अवधी अवधी लोक-गीतों आदि इन इस एक और कय कर करके करती करते करने कहते हैं कहा का का उल्लेख कारण किया की के लिए कैकेयी को गंगा गई गया गीत गीतों गुरु घर जनक जनकपुर जब जाइ जाता है जाती जाते जाने जो तउ तक तथा तुम तू तो था दिन दिया द्वारा नहीं ना नाम नाहीं ने पर परंतु पृ० प्रकार बन भइया भरत भो० लो० भोजपुरी भोजपुरी लोक-गीतों मा माता मिलता है मुनि में भी मैं यह या ये रा० राजा दशरथ रानी राम रामा रामायण रावण रूप रे रे है लंका लक्ष्मण लछिमन ले लोक लोक-गीत लोक-गीतों के अनुसार लोक-गीतों में वन वर्णन वसिष्ठ वह विवाह वे सं० सब समय सीता सीता को से हनुमान हम हय हवं हाथ ही हुआ हुई हुए है और है है हैं होकर होने

Bibliographic information