Hindi Nibandh Saurabh

Front Cover
Prabhat Prakashan, Jan 1, 2009 - 154 pages
2 Reviews

आज विश्व-स्तर पर हिंदी के पठन-पाठन का विकास हो रहा है। विद्यालयों में प्रारम्भ से ही छात्रों को निबंध-लेखन की ओर प्रेरित किया जाता है, निबंध प्रतियोगिताएँ आयोजित की जाती है। प्रशासनिक सेवा तथा अन्य विभागीय परीक्षाओं में तो हिंदी निबंध का एक प्रश्न-पत्र ही होता है। अत: हिंदी के विद्यार्थियों, प्रतियोगी परीक्षाओं में भाग लेनेवाले अभ्यर्थियों को ध्यान में रखकर ही इस पुस्तक की रचना की गई है। इसमें जीवनीपरक निबंध भी हैं तथा अधुनातन समस्याओं से संबध विषयों पर भी। आशा है, विद्यार्थियों तथा विभिन्न सेवा-परीक्षाओं में सम्मिलित होनेवाले अभ्यर्थियों के लिए यह पुस्तक उपयोगी सिद्ध होगी। 

What people are saying - Write a review

We haven't found any reviews in the usual places.

Bibliographic information