Patanjalimuni-Virchit Mahabhashyama; Hindi vyakhyaya sahitam

Front Cover
Sri Pyarelal Drakshadevi Nyas, 1972
0 Reviews

From inside the book

What people are saying - Write a review

We haven't found any reviews in the usual places.

Common terms and phrases

अकार अत अथवा अर्थ अर्थात आचार्य आदि इति इन इस प्रकार इसका इसलिये इसी उपदेश उस उसका उसके एक ऐसा और कर करके करता करते करना चाहिये करने पर कहना कहा है का ग्रहण का निर्देश कारण कार्य किया है की के लिये कैयट कैसे को कोई क्या क्योंकि गुण चाहिये जानना चाहिये जैसे जो तथा तो था दिया दो दोनों दोष द्वारा नहीं है नहीं होता नागेश नियम ने पक्ष पद पर भी परन्तु परे पाठ पाणिनि पूर्व पृष्ट प्रतिषेध प्रत्यय प्रत्याहार प्रयत्न प्रयोजन प्रवृति भवति भाष्य मत मानकर में भी यथा यदि यह यहां ये रूप लोप वचन वर्ण वह वहां वा विचार विधान वृद्धि वे वेद व्याकरण व्याख्या शब्द शब्दों संज्ञा सकता समान सरस्वती सरस्वती ने सिद्ध सूत्र सूत्र में हि ही हुआ है कि है है हैं होगा होगी होता है होती होते हैं होने पर होने से होवे

Bibliographic information