Rajendra Babu: Patron Ke Aaine Mein: पत्रों के आईने में

Front Cover
Prabhat Prakashan, 2007 - India - 4 pages
1 Review
Selected correspondences of Rajendra Prasad, 1884-1963, first president of India, written between 1905-1963; includes some letters translated from English.
 

What people are saying - Write a review

User Review - Flag as inappropriate

It is very introductory book related to First President of India. I want do clear that Tara Sinha try her best to disclosed each and every thing related to the Ideal President. He did services for the Nation not for his family only.

Contents

Section 1
5
Section 2
7
Section 3
25
Section 4
35
Section 5
87
Section 6
90
Section 7
91
Section 8
92
Section 9
93
Section 10
22
Section 11
26
Section 12
38
Section 13
64
Section 14
119
Section 15
155
Section 16
165

Other editions - View all

Common terms and phrases

अंग्रेजी अति अन्य अपनी अपने अब अभी आज आप आपका आपके आपको आलू इम इस उगे उन उनकी उनके उनको उन्हें उन्होंने उस उसे एक एवं ऐसा कम कर करते करना करने के का कात काम किया है किसी की कुछ के लिए केवल को को लिखा यब कोई खल गई गए गया है चाहिए जब जवाहरलाल नेहरु जा जाए जात जाता जो तक तथा तरह तो था थी थे दिन दिनों दिया देने देश दो द्वारा नई दिल्ली नहीं है ने पकता पकी पटना पत्र पथ पद पर पल प्रसाद प्रिय फिर बने बहुत बिहार भारत भी भेरी मन मिला मुझे में मेरा मेरी मैं मैंने मैने यत्र यदि यम यर यल यह या रहा है रहे रा राष्ट्रपति रूप लेकिन वन वने वल वह वहुत विचार वे श्री संविधान से हम ही हुआ हुई हुए हूँ है और है कि हैं हो होगा होगी होता होने

Bibliographic information